GET ALL RELIGIOUS PLACE LATEST
INFORMATION
KEDARNATH DHAM YATRA
AKSHARDHAM TEMPLE
PREM MANDIR, VRINDAVAN
ISKCON TEMPLE
temple, punya, darshan, punyadarshan, travel, tour, tourism, religious, spirituality, dham, mandir, India, lord krishna, lord shiva
Hampi Temple
previous arrow
next arrow
Slider

क्यों मानते हैं दिवाली? धनतेरस, नरक चौदस, दिवाली, गोवर्धन पूजा एवं भाई-दूज की मान्यताएँ?

क्यों मानते हैं दीपावली पर्व

भारत एक ऐसा देश है जिसको त्योहारों की भूमि कहा जाता है! इन्हीं पर्वों में से एक खास पर्व है दीपावली जो दशहरा के 20 दिन बाद अक्तूबर या नवंबर के महीने में आता है! इस दिन अयोध्या के राजा रामचंद्र लंका के अत्याचारी राजा रावण का नाश कर और चौदह वर्ष का वनवास काटकर अयो ध्या वापस लोटे थे! उनकी विजय और आगमन की खुशी के प्रतीक रूप में अयोध्यावासियों ने नगर को घी के दीपों से प्रकाशित किया था और दीवाली का त्यौहार मनाया! दीपावली पर्व का मतलब होता है, दीपों की अवली यानि पंक्ति! इस प्रकार दीपों की पंक्तियों से सुसज्ज‍ित इस त्योहार को दीपावली कहा जाता है! कार्तिक माह की अमावस्या को मनाया जाने वाला यह महापर्व, अंधेरी रात को असंख्य दीपों की रौशनी से प्रकाशमय कर देता है!

दिवाली पर्व

दीपावली पर्व से जुड़ी अनेक पौराणिक कथाएं

इस दिन जैन तीर्थकर भगवान महावीर ने जैतन्य की प्राण प्रतिष्ठा करते हुए महानिर्वाण प्राप्त किया था! स्वामी दयानंद ने भी इस दिन निर्वाण प्राप्त किया था! सिख संप्रदाय के छठे गुरू हरगोविंदजी को बंदीग्रह से छोड़ा गया था! इसलिए लोगों ने दीपमाला सजाई थी! सिक्खों के लिए भी दीवाली महत्त्वपूर्ण है! इसी दिन ही अमृतसर में 1577 में स्वर्ण मन्दिर का शिलान्यास हुआ था!

आर्थिक महत्व

दीवाली का त्यौहार भारत में खरीद के अवधि का पर्व है! यह पर्व नए कपड़े घर के सामान, उपहार, सोने, आभूषण और अन्य बड़ी खरीदारियों का समय है! इस पर्व पर खरीदारी और खर्च को काफी शुभ माना जाता है! क्योंकि लक्ष्मी को, धन, समृद्धि, और निवेश की देवी माना जाता है! दीपावली पर्व भारत में सोने और आभूषणों की खरीद का सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है!

दिवाली पर्व

एक सप्ताह त्योहारों का

दीपावली के पहले दिन को धनतेरस या धन त्रेयोंदशी कहते है जिसे माँ लक्ष्मी की पूजा के साथ मनाया जाता है! इसमें लोग देवी को खुश करने के लिये भक्ति गीत, आरती और मंत्र उच्चारण करते है! मान्यता है कि इस दिन कोई-न-कोई नया बर्तन अवश्य खरीदना चाहिए! इस दिन नया बर्तन खरीदना शुभ माना जाता है!

धनतेरस

दूसरे दिन को नरक चतुर्दशी पर्व या छोटी दीपावली कहते है जिसमें भगवान कृष्ण की पूजा की जाती है क्योंकि इसी दिन कृष्ण ने नरकासुर का वध किया था! ऐसी धार्मिक धारणा है कि सुबह जल्दी तेल से स्नान कर देवी काली की पूजा करते है और उन्हें कुमकुम लगाते है! कार्तिक अमावस्या के दिन समुद्र मंथन में महालक्ष्मी का जन्म हुआ! लक्ष्मी धन की अधिष्ठात्री देवी होने के कारण धन के प्रतीक स्वरूप इसको महालक्ष्मी पूजा के रूप में मनाते आये! आज भी इस दिन घर में महालक्ष्मी की पूजा होती है!

नरक चतुर्दशी पर्व

तीसरा दिन मुख्य दीपावली पर्व का होता है जिसमें माँ लक्ष्मी की पूजा की जाती है, अपने मित्रों और परिवारजन में मिठाई और उपहार बाँटे जाते है साथ ही शाम को जमके आतिशबाजी की जाती है!

चौथा दिन गोवर्धन पूजा के लिये होता है जिसमें भगवान कृष्ण की आराधना की जाती है! लोग गायों के गोबर से अपनी दहलीज पर गोवर्धन बनाकर पूजा करते है! ऐसा माना जाता है कि भगवान कृष्ण ने अपनी छोटी उँगली पर गोवर्धन पर्वत को उठाकर अचानक आयी वर्षा से गोकुल के लोगों को बारिश के देवता इन्द्रराज से बचाया था!

गोवर्धन पूजा

पाँचवें दिन को हम लोग जामा द्वितीय या भैया दूज के नाम से जानते है। ये भाई-बहनों का त्योहार होता है।

दीपावली पर दीप जलाने की प्रथा

दीपावली पर दीप जलाने की प्रथा के पीछे अलग-अलग कारण या कहानियां हैं! हिंदू मान्यताओं में राम भक्तों के अनुसार कार्तिक अमावस्या को भगवान श्री रामचंद्रजी चौदह वर्ष का वनवास काटकर तथा असुरी वृत्तियों के प्रतीक रावणादि का संहार करके अयोध्या लौटे थे! तब अयोध्यावासियों ने राम के राज्यारोहण पर दीपमालाएं जलाकर महोत्सव मनाया था! इसीलिए दीपावली हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है! कृष्ण भक्तिधारा के लोगों का मत है कि इस दिन भगवान श्री कृष्ण ने अत्याचारी राजा नरकासुर का वध किया था! इस नृशंस राक्षस के वध से जनता में अपार हर्ष फैल गया और प्रसन्नता से भरे लोगों ने घी के दीए जलाए!

दिवाली का महत्व

विश्व के देशों में दीवाली का त्यौहार कैसे मनाया जाता है

नेपाल- नेपाल में दीवाली का त्योहार पांच दिनों तक चलता है! पहले दिन कौवे की पूजा की जाती है! उसे प्रसाद दिया जाता है! दूसरे दिन कुत्ते को उसकी ईमानदारी के लिए प्रसाद दिया जाता है! तीसरे दिन गाय को प्रसाद दिया जाता है! चौथे दिन बैल को प्रसाद दिया जाता है!

मलेशिया- मलेशिया में दीपावली के दिन दूसरे धर्मों के लोगों को घर पर दावत दी जाती है!

श्रीलंका- श्रीलंका में दीपावली का त्यौहार तमिल संप्रदाय के लोग मनाते हैं! इस दिन नृत्य, दावते और आतिशबाजी की जाती है!

संयुक्त राज्य अमेरिका- संयुक्त राज्य अमेरिका में दीवाली का त्यौहार व्हाइट हाउस में मनाया जाता है! पहली बार सन 2003 में व्हाइट हाउस में दीवाली का त्यौहार मनाया गया था! पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश द्वारा इसकी घोषणा की गई थी। सन 2009 में राष्ट्रपति बराक ओबामा भी दिवाली के उत्सव में सम्मिलित हुए थे!

ब्रिटेन- ब्रिटेन में बड़ी मात्रा में भारतीय रहते हैं! प्रिंस चार्ल्स बहुत बार दीपावली के उत्सव में शामिल हो चुके हैं! ब्रिटेन के स्वामीनारायण मंदिर में दीवाली का त्यौहार मुख्य रूप से मनाया जाता है!

मॉरीशस– मॉरीशस में बड़ी मात्रा में हिंदू रहते हैं! दीपावली के दिन वहां पर सरकारी अवकाश होता है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *